Computer Virus Kya Hai ? What is Computer Virus ? – Internet Duniya

Virus Kya Hai ? What is Computer Virus ? - Internet Duniya
Virus Kya Hai ? What is Computer Virus ? - Internet Duniya

नमस्कार दोस्तों कैसे हो आप सभी मुझे उम्मीद है कि आप भी ठीक होंगे दोस्तों हम सभी लोग मोबाइल लैपटॉप या अपना पर्सनल कंप्यूटर यूज करते हैं दोस्तों समय के साथ-साथ हमारे फोन में हैंग प्रॉब्लम या फिर प्रोसेसिंग स्लो स्पीड आती है |

यह सब दोस्तों वायरस की वजह से होता है लेकिन नॉर्मल दोस्तों कोई किसी को पता नहीं होता कि वायरस क्या होता है और यह हमारे डिवाइस में कैसे आते हैं तो चलिए दोस्तों आज हम आपको Post में बताएंगे की Computer Virus Kya Hai ? What is Computer Virus in Hindi ? और वायरस कैसे हमारे मोबाइल में प्रवेश करता है? और साथ ही साथ हम अपने मोबाइल लैपटॉप या कंप्यूटर को वायरस से कैसे बचा सकते हैं? तो दोस्तों आप लोग पढ़ते रहिएगा और यह लिंक अपने दोस्तों, के साथ शेयर जरूर कीजिएगा। ताकि वह भी अपने लैपटॉप ,मोबाइल को वायरस से मुक्त कर सकें।

Virus Kya Hai ? What is Computer Virus ?

Virus का full form Vital information Resources Under Siege है | वायरस एक सॉफ्टवेयर का ऐसा प्रोग्राम है या कंप्यूटर कोड का एक टुकड़ा है जो आपके कंप्यूटर में आपके अनुमति के बिना प्रवेश कर जाता है और आपके सिस्टम को नुकसान पहुंचाता है जब भी आप कोई प्रोग्राम जैसे की ईमेल या जीमेल का अटैचमेंट ओपन करते हैं तो वायरस आपके कंप्यूटर में फैल जाता है वायरस सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने के लिए वेब पेज डाउनलोड करते हैं और इंटरनेट के जरिए फाइल को आदान-प्रदान में फैलाया जाता है यह वायरस आपके कंप्यूटर में महत्वपूर्ण फाइल डिलीट करके आपके हार्ड डिस्क को नुकसान पहुंचाता है कुछ वायरस पूरे कंप्यूटर में फैल कर कंप्यूटर की गति धीमी कर देते हैं।

Advertisement

आपने Malware का नाम तो सुना ही होगा | ये भी एक प्रकार वायरस ही है | Malware का full form Malicious Software है | लगभग सभी प्रकार के computer virus को Malware ही कहते है | ये एक ऐसा Virus है जो धीरे-2 हमारे system में प्रवेश करते ही और computer के डाटा को खराब कर देता है |

Malware तीन प्रकार के होते है –

  1. Warms
  2. Trojan Horse 
  3. Virus 

#1 Warms

दोस्तों यह कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जो आपके कंप्यूटर की गति को धीमे बना देता है ।और कंप्यूटर के सामान्य प्रक्रिया को बाधित करता है ।यह वायरस के सामान संबंधित कंप्यूटरों में भी फैलता है ।इसमें फाइलें प्रोग्राम से नहीं जोड़ता है वह वायरस से भी ज्यादा तेज फैलता है और कंप्यूटर ओपन होते ही सक्रिय हो जाता है या कंप्यूटर से जुड़े अन्य कंप्यूटर में भी फैल जाता है और आपके डाटा फाइल को डिलीट कर देता है या आपके कंप्यूटर के Ram को घेरकर कंप्यूटर की गति को धीरे कर देता है।

#2 Trojan Horse

ट्रोजन हॉर्स उस प्रोग्राम को कहते हैं जो एक लाभदायक प्रोग्राम के रूप में आपके सामने आता है और धीरे से आकर कंप्यूटर सिस्टम में छुप जाता है ऐसे प्रोग्राम प्रायः मुफ्त में कंप्यूटर खेलों के रूप में आते हैं जो आपके कंप्यूटर में अनेक प्रकार के वायरस डाल देते हैं जिसे ट्रोजन हॉर्स एनीथिंग प्रोग्राम कहते हैं worn के समान ट्रोजन हॉर्स आपके अनेक कंप्यूटर को नुकसान नहीं बनाता है यह सिर्फ अपने फाइल को और हार्डडिस्क को हानि पहुंचाते हैं और हमारे कंप्यूटर में हमारे व्यक्तिगत जानकारी को गलत लोगों तक पहुंचाते हैं।

Advertisement

तो दोस्तों यह तो बात हो गई आपके वायरस की कि वायरस क्या होता है और यह कितने प्रकार के होते हैं और इनके जितने भी प्रकार हैं उनका क्या क्या काम होता है हमारे कंप्यूटर में। अब हम बात करते हैं कि हम अपने कंप्यूटर लैपटॉप या मोबाइल को वायरस से कैसे बचा सकते हैं।

Virus से कैसे बचे ? How to Be Safe From Virus ?

दोस्तों वायरस से बचाने के लिए हमें अपने मोबाइल लैपटॉप या कंप्यूटर में सबसे पहले कोई अच्छा एंटीवायरस प्रोग्राम इंस्टॉल करना चाहिए और साथ ही साथ अपने नेट को प्रोटेक्ट करना चाहिए और साथ ही साथ जिस प्रोग्राम में हमें संदेह हो हमें यह लगे कि इसमें वायरस है |

जैसे हम जब इंटरनेट का यूज करते हैं तो उसमें कई सारे फाइल हम डाउनलोड करते हैं तो उसी फाइलों में यह वायरस छिपे होते हैं तो दोस्तों आप ऐसे प्रोग्रामों को बिना स्कैन किए ना खोलें दोस्तों कई बार आपको ऐसा देखने को मिल जाता है कि कोई व्हाट्सएप या ग्रुप में कोई ऐसा लिंक मिलता है जिसमें यह लिखा होता है कि आप उस पर क्लिक कीजिए और इतना Prize लीजिए तो दोस्तों आपको ऐसे लिंक को बिल्कुल भी नहीं खोलना है |

Advertisement

क्योंकि वह जब आप लिंक को ओपन करेंगे तो आपके कंप्यूटर में वायरस आ जाएगा जिसे आपका कंप्यूटर खराब हो सकता है। और नहीं तो कुछ हैकर ऐसा लिंग बनाते हैं कि जो आपके डायरेक्ट नेट बैंकिंग में खुलता है और आप उसमें अपना यूपीआई पिन या पासवर्ड डालते हैं दोस्तों आपके यूपीआई पिन या पासवर्ड को डालते हैं आपका बैंक का पूरा डिटेल हैकर्स के कंप्यूटर में चला जाता है इससे वह जब चाहे जहां चाहे तथा जितना चाहे उतना धनराशि आपके अकाउंट से निकाल सकते हैं |

दोस्तों ऐसे फेंक लिंक से बच्चे और साथ ही साथ अपने मोबाइल में भी आप एक कोई पैटर्न लॉक किया स्क्रीन लॉक लगाया करें दोस्तो ऐसा करने चाहिए होता है कि आपका फोन बाय थे चांस कभी गायब हो गया यार खो गया तो आपके फोन को कोई दूसरा आदमी यूज़ नहीं कर सकता।

What is Computer Virus ?

 

Advertisement

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here