What is Cloud Computing in Hindi ? Cloud Computing क्या है ? – Internet Duniya

What is Cloud Computing in Hindi ? Cloud Computing क्या है ? - Internet Duniya

What is Cloud Computing in Hindi: आज का टाइम Technology और Interrnet का है और आपने कभी न कभी तो cloud computing के बारे में जरुर सुने होंगे | लेकिन क्या आपको पता है Cloud Computing क्या है ? What is Cloud Computing in Hindi ? computer के बारे में तो आप जरुर जानते होंगे | लेकिन आपको Cloud Computing की जानकारी नही होगी |

मुझे यकीन है कि मैक्सिमम(mechanism) मोबाइल एंड कंप्यूटर यूजर्स ने कभी ना कभी क्लाउड कंप्यूटिंग का नाम सुना होगा और बहुत सारी यूजर्स को यह डाउट(dout) भी होगा कि क्लाउड कंप्यूटिंग (Cloud Computing) क्या है ? क्या यह बादल है या फिर बादल की कोई सर्विस है या कुछ डाटा स्टोरेज है जो बादल में जाकर स्टोर होता है ? और बहुत सारे लोगों को इसके एडवांटेजेस (Advantages) जानने की उत्सुकता भी होगी |

Cloud Computing के Advantages क्या-क्या है ? क्यों हम क्लाउड कंप्यूटिंग का यूज करते हैं ? इन फ्यूचर में इसका Scope क्या है ? आजकल कंपनी Cloud Computing क्यों Move होती जा रही है ? आज हम ऐसे कुछ एक Technology के बारे में बतायेंगे और ये क्या है कैसे काम करता सारी जानकारी आज इस पोस्ट में देंगे |आपको क्लाउड कंप्यूटिंग के जो भी डाउट्स है वह क्लियर हो पाएंगे चलिए शुरू करते हैं |

Advertisement

इसे भी जरुर पढ़े – Ecommerce क्या है और कैसे काम करता है ?

Cloud Computing क्या है ? ( What is Cloud Computing in Hindi ? )

दोस्तों जैसा कि हम सबको पता है कि क्लाउड का मतलब बादल होता है | लेकिन यहां पर मैं किसी बादल की बात नहीं कर रहा है यहां पर क्लाउड का मतलब इंटरनेट और नेटवर्क से है | आसान शब्दों में समझाने की कोशिश करूं तो क्लाउड (Cloud) एक ऐसी Service जिसके जरिये हम एप्लीकेशंस (Applications) को Remotely Access कर सकते हैं | Cloud Computing का सबसे बड़ा उदाहरण YouTube है जो कि अपना विडियो स्टोर करने के लिए Cloud Computing का इस्तेमाल करता है |

दोस्तों अगर हम Applications की बात करें तो daily हम कोई ना कोई ऐसी Applications यूज़ करते हैं जिसका सीधा संबंध क्लाउड कंप्यूटिंग से होता है | जैसे ईमेल हम daily अपनी इमेल चेक करते हैं, अटैचमेंट्स (Attachment) अटैच करते हैं, गूगल ड्राइव (Google Drive) पर अपना डाटा स्टोर करते हैं और अपनी दोस्तों को ईमेल सेंड करते हैं | ईमेल एक क्लाउड कंप्यूटिंग छोटा सा example है | इसके अलावा भी बहुत सारे examples है | जैसे ही Web Conferencing या CRMS एक्स्ट्रा यह सब क्लाउड कंप्यूटिंग के पाठ है |

Advertisement

दोस्तों मैंने पहले बताया था कि क्लाउड का मतलब यहां पर इंटरनेट और नेटवर्क से है पर क्लाउड के साथ-साथ दूसरा वर्ड है कंप्यूटिंग तो कंप्यूटिंग का अर्थ क्या होता है ? 

दोस्तों कंप्यूटर पर हम बहुत सारे Task Perform करते हैं, Excel ओपन करते हैं Excel में अपना डाटा मेंटेन करते हैं टैली(Tally) ओपन करते हैं, अपने एकाउंटिंग का काम करते हैं, तो कंप्यूटर के जरिये जब हम अपनी Applications को Access करते हैं, Configure करते हैं या उसमें Changes करते हैं या Customization करते हैं तो इसी को कंप्यूटिंग कहा जाता है |

इसे भी जरुर पढ़े – Dark Web क्या होता है ?

Advertisement

Cloud Computing के प्रकार – ( Types Of Cloud Computing in Hindi )

Cloud Computing चार प्रकार के होते है |

  1. Private Cloud
  2. Public Cloud
  3. Community Cloud
  4. Hybrid Cloud

#1 Private Cloud

Private Cloud Computing सबसे अच्छा उदाहरण Google Drive है | इसमें आप अपने जरुरी चीजो को स्टोर करके रख सकते है जैसे Documents, Photos, Video और Email id, password से Secure रहता है | Private cloud को आपके अलावा कोई और इस्तेमाल नही कर सकता है | ये Public cloud की तुलना में ज्यादा secure रहता है |

#2 Public Cloud 

Public Cloud एक standard cloud computing model है | ये वह जगह है जहा service को ऑफ साईट स्टोर किया जाता है | जिसमे cloud computing देने वाली कंपनिया सभी के लिए cloud computing की सुविधा देती है, जो की बिलकुल फ्री भी हो सकता है और इसके लिए आपको कई बार कुछ pay भी करना पड़ेगा अपने इस्तेमाल के अनुसार और इस cloud computing में user का कोई control नही रहता है | Public Cloud Computing कम secure रहती है |

Advertisement

इसे भी जरुर पढ़े – IP Address क्या होता है ?

#3 Community Cloud

ये Cloud computing किसी group members के लिए होता है | कोई दूसरा व्यक्ति इसका इस्तेमाल नही कर सकता है | कोई आर्गेनाइजेशन (Organization) या उसके members ही उस Organization की साईट पर available डाटा का इस्तेमाल कर सकते है |

#4 Hybrid Cloud

Hybrid cloud में दो या दो से ज्यादा cloud का इस्तेमाल किया जाता है | जैसे इसमें Private और Public cloud दोनों का इस्तेमाल किया जाता है | जिसमे किसी साईट पर कुछ डाटा Public और कुछ Registered users के लिए उपलब्ध रहता है | इसे हम Hybrid cloud computing कहते है |

Advertisement

इसे भी जरुर पढ़े – Laptop VS Computer ? कौन का बेहतर है और क्यों ?

Cloud Computing के फायदे – ( Advantages Of Cloud Computing in Hindi )

दोस्तों अब सवाल यह है कि लोग इसको यूज़ करना इतना पसंद क्यों करते हैं क्यों यह दिन प्रतिदिनं बहुत पॉपुलर होता जा रहा है | इसके Advantages क्या क्या है ?

1- Cloud Computing पर स्टोर किये गये document को आप कही भी और किसी भी टाइम इस्तेमाल कर सकते है |

Advertisement

2- Cloud Computing को इस्तेमाल करने के लिए आपको कोई additional hardware नही लगाना पड़ेगा |

3- सबसे पहला जो इसमें एडवांटेज(Advantages) है वह है इसने प्लेटफार्म डिपेंडेंसी को खत्म कर दिया | यहां पर प्लेटफॉर्म का मतलब ऑपरेटिंग सिस्टम से है | जैसे Windows, Mac, Linux आदि , अगर मैं Windows की बात करूं तो Windows में सॉफ्टवेयर Install करने के लिए हमें कई तरह के Frameworks Install करने पड़ते थे और अलग-अलग सॉफ्टवेयर और गेम्स(Games) की अलग-अलग रिक्वायरमेंट्स(Recuirment) होती थी, जो हमें फुलफिल(Fullfil) करनी पड़ती थी |

उसके बाद हम Games या सॉफ्टवेयर को यूज कर पाते थे | लेकिन क्लाउड कंप्यूटिंग की मदद से हम ब्राउजर के जरिये अपनी Applications को आसानी से Access कर सकते हैं | हमें कोई जरूरत नहीं है अपने सिस्टम में कोई एडिशनल(Addititonal) सॉफ्टवेयर या एप्लीकेशन डाउनलोड करने की या इंस्टॉल करने की | जिसकी हेल्प से जो सॉफ्टवेयर हम चलाना चाहते हैं वह हम चला पाए |

Advertisement

4- इसका जो दूसरा एडवांटेज(Advantages) है वह है सिंक्रोनाइजेशन(Synchronization) मैं अपनी एप्लीकेशन अपने मोबाइल में अपने टेबलेट में या अपने लैपटॉप में कहीं पर भी एक्सेस कर सकता हूं बस मुझे एक चीज की रिक्वायरमेंट(Recuirment) है वह है हाई स्पीड इंटरनेट, इसका जो अगला और बेस्ट फीचर है वह यह है कि हम इसकी कॉन्फ़िगरेशन(configuration) को कभी भी बढ़ा या घटा सकते हैं |

जैसे मेरी कंपनी में अभी 10 employee काम कर रहे हैं अगर मैं उसको 20 करना चाहता हूं तो मैं उसको बढ़ा सकता हूं या घटा सकता हूं | इसके लिए मुझे बहुत थोड़ी सी Cost देनी पड़ेगी अगर यही काम में बिना क्लाउड कंप्यूटिंग की हेल्प से करता तो उन जो नए 10 employee है उनके लिए मुझे नई 10 मशीन में उनके सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करने पड़ते हैं उसकी लाइसेंसइन(Licencing)

डालनी पड़ती जो कॉस्टली(Costly) भी होता है और जिसमें टाइम भी बहुत ज्यादा लगता है |

Advertisement

Cloud Computing के नुक्सान ( Disadvantages Of Cloud Computing in Hindi )

Cloud Computing के काफी सारे नुक्सान भी है | इसको इस्तेमाल करना खतरे से भरा हुआ भी हो सकता है |

  1. सबसे पहला डर ये रहता है की कोई भी आपके डाटा को access न कर ले |
  2. Cloud Computing का डाटा management करना काफी मुस्किल होता है |
  3. Cloud Computing पूरा इन्टरनेट पर ही depend है अगर इन्टरनेट खराब हो जाए या फिर lost हो जाए तो आपका काम रुक सकता है |

Conclusion

मुझे उम्मीद है आप जान गये होंगे की Cloud Computing क्या है ? What is Cloud Computing in Hindi ? और आप service का इस्तेमाल आसानी से कर पायेंगे | ये जानकारी आपको कैसी लगी मुझे नीचे कमेंट बॉक्स में जरुर बताये और ये पोस्ट अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे |

Advertisement

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here